भीनमाल में किये गए सामाजिक कार्य

श्री लक्ष्मीवल्लभ पार्श्वनाथ ७२ जिनालय महातीर्थ के निर्माता लुंकङ परिवार के द्वारा भीनमाल में किये गए सुकृत कार्य


  • भीनमाल नगर में श्री गोडी पार्श्वनाथजी मंदिर का मुख्य द्वार और परकोटा का निर्माण संवत २०१८ में किया गया |
  • विक्रम संवत २०२८ में आचार्य श्री विजय विद्याचंद्रसूरीश्वरजी म. सा. के पावन सानिध्य में उपधान तप करने का लाभ लिया |
  • भीनमाल में गाँधीमुथा मोहल्ले में श्री पार्श्वनाथजी भगवान की चांदी की आँगी बनवाकर भेंट की |
  • दि. २० जून १९८३ मातुश्री मालुबाई की स्मृति में श्री भीनमाल नगर में श्रीमती मालुबाई हजारीमलजी लुंकङ के नाम से एक भव्य अस्तपाल का निर्माण करवाया|
  • संवत २०४६ में भीनमाल नगर के हजारीभवन में श्री मनमोहन पार्श्वनाथ भगवान एवं दादा गुरुमहाराज आचार्यदेव श्री राजेन्द्रसूरीजी म. सा. का गुरूमंदिर की आचार्य भगवंत श्री हेमेंद्रसूरीजी म. सा. के सानिध्य में प्रतिष्ठा करवाई|
  • संवत २०४८ में श्री भीनमाल नगर में श्रीमती सुआबाई सुमेरमल लुंकङ उच्च माध्यमिक कन्याशाला का निर्माण करवाया |
  • संवत २०४८ में भीनमाल नगर से स्पेशल ट्रेन द्वारा ३० दिन का संघ, श्री सम्मेतशिखरजी, सिद्धाचल आदि महान तीर्थो की तीर्थ यात्रा करीब ८०० यात्रियों को करवाई | माला रोपण महोत्सव में श्री सकल संघ ने संघवी की पदवी प्रदान की |
  • संवत २०५३ में आचार्य भगवंत श्री हेमेंद्रसूरीश्वरजी म. सा. आदि मुनि मण्डल द्वारा प.पू. मुनिराज श्री राजत्चंद्रविजय म. सा. की दीक्षा लुंकङ परिवार द्वारा भीनमाल नगर में ७२ जिनालय के शिलान्यास के समय दि. २-५-१९९६ को हुई, और प.पू. मुनिराज श्री ऋषभचन्द्रविजयजी म.सा. के शिष्य बने|
  • संवत २०६२ में प.पू. श्रीमद राजेंद्रसूरीश्वरजी म.सा. के शताब्दी वर्ष के शुभारम्भ पंचदिवशी मेले का लाभ श्री लुंकङ परिवार को मिला | तथा इसी समय में गुरूमंदिर के सम्मुख रंगमंडप का निर्माण का लाभ भी लिया| भीनमाल नगर में श्रीमती सीताबाई किशोरमलजी लुंकङ बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का निर्माण करवाया |
  • श्री भीनमाल नगर में सनातन धर्म यज्ञ के विशाल आयोजन में फले चुनडी का दि. २५-६-२००७ को लाभ मिला |
  • इसके आलावा लुंकङ परिवार के द्वारा सामाजिक. धार्मिक, जीवदया, स्वामीवात्सल्य, साधर्मिक भक्ति, साधू- साध्वी वैयावच्च आदि कार्य निरंतर चालू है |